कबीरा खड़ा बाज़ार में, मांगे सबकी खैर | संत कबीर के दोहे – Kabir ke dohe in Hindi

कबीरा खड़ा बाज़ार में, मांगे सबकी खैर | संत कबीर के दोहे – Kabir ke dohe in Hindi


कबीरा खड़ा बाज़ार में, मांगे सबकी खैर,
ना काहू से दोस्ती,न काहू से बैर।

भावार्थ: इस संसार में आकर कबीर अपने जीवन में बस यही चाहते हैं कि सबका भला हो और संसार में यदि किसी से दोस्ती नहीं तो दुश्मनी भी न हो !


kabira khara baazaar mem, maange sabaki khair,
na kaahoo se dosti,n kaahoo se baira.

bhaavaarth: is samsaar mein aakar kabir apane jivan mein bas yahi chaahate hain ki sabaka bhala ho aur samsaar mein yadi kisi se dosti nahin to dushmani bhi n ho !

200संत कबीर के दोहों का संग्रह अर्थ सहित –Click Here

Leave a Comment