Viram Chinh Kise Kahate Hain? – विराम चिन्ह क्या है, विराम चिन्ह कितने होते हैं

Viram Chinh Kise Kahate Hain- विराम चिन्ह क्या है, विराम चिन्ह कितने होते हैं:

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका एक और नॉलेजेबल पोस्ट में इस पोस्ट में हम आपके साथ विरम सुनना क्या होता है (Viram Chinh in Hindi) विराम चिन्ह कितने प्रकार होते के बारे में जानकारी शेयर करने वाले हैं. अपने स्कूल में हिंदी ग्रामर जरूर पढ़ा होगा हिंदी ग्रामर में विराम चिन्ह महत्वपूर्ण पाठ है इसीके बारे में हम इस पोस्ट में अधिकतम जानकारी जानेंगे.

Viram Chinh Kise Kahate Hain

तो अगर आप भी किसी भी कक्षा में हो और आप भी विराम चिन्ह के बारे में जानकारी जानना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए जो अच्छी साबित हो सकती है क्योंकि इस पोस्ट में हमें आपके साथ विराम चिन्ह क्या होता है के साथ-साथ विराम चिन्ह के कितने प्रकार होते हैं के बारे में भी जानकारी दे दी है.

Viram Chinh Kise Kahate Hain? – विराम चिन्ह क्या है, विराम चिन्ह कितने होते हैं

Viram Chinh in Hindi: विराम चिन्ह की परिभाषा कुछ इस तरह है कि किसी भी वाक्य को लिखते समय उसके विचारों को और भावों को स्पष्ट रूप से लिखने के लिए जिन चिन्हों का वाक्य के भीतर उपयोग किया जाता है उसे ही विराम चिन्ह कहते हैं.

अगर आप किसी से बात करते थे तो आपने जरुर महसूस किया होगा कभी भी बात करते समय आप एक ही सुर में बात नहीं कर सकते आपको बीच बीच में रुकना पड़ता है तो उसी बात को अगर आप वाक्य में लिखे तो जब कोई भी वाक्य रुकने के लिए जिन चीजों का वह किया जाता है उसे ही मेरा उसे विराम चिन्ह कहते हैं.

  • पूर्ण विराम (FullStop)( | ): किसी भी वाक्य के अंत में या किसी भी वाक्य के पूरे होने पर पूर्ण विराम का उपयोग किया जाता है
  • अल्प विराम (Comma)( , ): समान अर्थ वाले वाक्य हो या फिर समान महत्त्व वाले वाक्य को विभाजित करने के लिए इस विराम चिन्ह का उपयोग किया जाता है.
  • अर्थ विराम (Semi-Colon) (;): अगर किसी वाक्य को बिना रुके हुए एक हल्का सा विराम देना पड़ता है उस विराम को अर्थ विराम कहते हैं.
  • अपूर्ण विराम (Colon)(:) :अगर किसी वाक्य में से किसी शब्द को एक ज्यादा महत्व देना हो या फिर किसी भी वाक्य को शुरू करते समय उस वाक्य के शीर्षक हो अपूर्ण विराम दिया जाता है.
  • प्रश्नवाचक चिन्ह (?): किसी भी प्रश्न के अंत में विराम चिन्ह का उपयोग किया जाता है.
  • योजक (Hyphen) (-): किसी भी दो वाक्यों को एक साथ जोड़ने के लिए इस योजक का उपयोग किया जाता है.
  • निर्देशक(-): किसी भी प्रश्न के आगे आने वाले उत्तर देने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है.
  • कोष्ठक(): किसी भी वाक्य में इस वाक्य में से किसी एक शब्द का अर्थ बताने के लिए कोष्ठक का प्रयोग किया जाता है.
  • उद्हदरण(“”) किसी भी प्रश्न के उद्हदरण को इस चिह्न के भीतर रखा जाता है
  • लाघव चिन्ह(.) : किसी भी पूर्ण शब्दों को एक अपूर्व शब्द (सांकेतिक शब्द) में लिखने के लिए किस चिन्ह का उपयोग किया जाता है.

इस पोस्ट का लिखने का हमारा मकसद सिर्फ आप अच्छी और महत्वपूर्ण जानकारी शेयर कर पाए इस Viram Chinh Kise Kahate Hain? – विराम चिन्ह क्या है, विराम चिन्ह कितने होते हैं पोस्ट में हमने आपके साथ Viram Chinh in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी शेयर की है अगर आपको इस जानकारी संबंधित कोई भी प्रश्न / शंका हो तो आप हमें कमेंट में जरूर पूछ सकते हैं हम आपको जरूर रिप्लाई देंगे और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले.

इसे भी पढ़े:

Leave a Comment