Best 50+ विश्वास पर धोखा शायरी 2021 – Vishwas Dhoka Shayari

विश्वास पर धोखा शायरी: आज इस पोस्ट में हम आपको सभी best Vishwas Dhoka Shayari शेयर करने वाले ह. तो अगर आप आपके Whatsapp, Instagram And Facebook share करने के लिए शायरी धुंड रहे है तो निचे दी गई शायरी आपको जरुर पसंत आने वाले है .

Vishwas Dhoka Shayari

तो दोस्तों अगर आप इंटरनेट पर धोखा शायरी और विश्वास पर धोखा शायरी के बारे में जानकारी सर्च कर रहे तो हमने इस पोस्ट में अच्छी-अच्छी शायरी आपके साथ शेयर की है जो आपको जो पसंद आएगी.

विश्वास पर धोखा शायरी –

अक्सर जिन लोगों पर जितना
विश्वास किया जाता है
ना जाने भरोसा तोड़ने का हुनर
उनमे ही क्यू आ जाता है


हमें भी हुई थी मोहब्बत किसी से
लेकिन जिस शख्स से हुई थी
वो मोहब्बत में धोखा देने वाला निकला |


गर रिश्तों को लम्बे समय तक बनाये रखना है
तो जिन्दगी में रिश्ते के साथ भरोसे को भी जोड़ना होगा।


किसी ने पूछा क्या चीज़
बिना सोचकर करते हो
हमने कहा अपनों पर विश्वास

Vishwas Dhoka Shayari in Hindi

मोहब्बत सीखा कर जुड़ा हो गए
न सोचा न समझा खफा हो गए
दुनिया में किसको हम अपना कहे
अगर तुम बेवफा हो गए।


बेवफा दुनिया में कौन सारी जिंदगी साथ देगा तेरा,
लोग तो दफना कर भूल जाते हैं कि कब्र कौन सी थी।


हर भूल तेरी माफ़ की
तेरी हर खता को भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का
तूने बेवफाई सिला दिया।


अगर तुम मुझसे पूछते हो कि प्यार क्या होता है,
तो बस इतना कहूँगा पल पल,
मरना है तो प्यार कर लेना |


Vishwas Dhoka Shayari

वो मुझसे ज्यादा चाहेगा इसे कुछ
दिनों में ये भरम टूट जायेगा ,
मैं ज़रूर याद आऊंगा उस बेवफा
को जब उसका साथ बेवजह उस
से रूठ जायेगा।


किस्से हजार हुए जिन्दगी में मगर
उनमे विश्वसाघात भरा वो किस्सा
बड़ा दर्द भरा रहा।


अपने रिश्तों पे विश्वास रखो
क्यूंकि अपने रिश्तों पे शक करना
विश्वास तोड़ने के समान है


Vishwas Dhoka Shayari

अब तो हम तेरे लिए अजनबी हो गए ,
बातों के सिलसिले भी कम हो गए …
खुशियों से जायदा हमारे पास गम हो गया ,
क्या पता यह व बुरा है या बुरे हम हो गए


ज़िन्दगी में एक पल भी सुकून न पाया
दुनिया की इस भीड़ में खुद को तनहा न पाया
तेरे दिए ज़ख्मो को प्यार समझते रहे
तेरे धोके में आके किसी से दिल न लगाया।


विश्वास का होना
दुनिया में बहुत जरूरी है
इसके बिना तो मूर्ति सिर्फ
पत्थर की है भगवान् की नहीं


मेरे न हो सके तो ऐसा कर दो
मैं जैसा पहले था मुझे वैसा कर दो |


विश्वास पर धोखा शायरी

हम कितने बेवफा हैं
एक दम उनके दिल से
निकल गए उनमे कितनी वफ़ा थी
आज तक हमारे दिल से नहीं निकले।


यह चमत्कार केवल
विश्वास ही कर सकता है
जो पत्थर को भी भगवान


हर मुलाकात पर वक्त का तकाजा हुआ,
हर याद पर दिल का दर्द ताजा हुआ,
सुनी थी सिर्फ लोगो से जुदाई की बाते,
आज खुद पर बीती तो हकीकत का अंदाजा हुआ


तुम साथ रहने का झूठा एहसास मत
दो हमें लोग हमारे बिच में रह कर भी
मुलाकात नहीं करते हैं।


बेवफ़ाओं की महफ़िल लगेगी ,
आज ज़रा वक़्त पर आना मेहमान-ए-ख़ास हो तुम.


दिल तो हमारा वो आज भी बहला
देते हैं फर्क है तो सिर्फ इतना पहले
हँसा देते थे अब रुला देते हैं।


जिन जख्मो से खून नहीं निकलता
समझ लेना वो ज़ख्म किसी अपने
ने ही दिया है।


बड़ी हसीन थी जिंदगी ,
जब ना किसी से मोहब्बत ना किसी से नफ़रत थी …
जिंदगी में एक मोड़ ऐसा आया मोहब्बत उससे हुई ,
और नफ़रत सारी दुनिया से हो गयी … ।।

विश्वास पर धोखा शायरी

Vishwas Dhoka Shayari

मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता की तुम अब कहाँ हो
मुझे बस इतना पता है की तुम इस दुनिया की
सबसे बड़ी बेवफा हो।


मेरे दिल कि सरहद को पार न करना
नाजुक है दिल मेरा वार न करना
खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर
इस भरोसे को तुम बेकार न करना !


एक तरफ़ा ही सही पर प्यार मेरा सच्चा है,
ये भी एक राज है राज रहे तो अच्छा है।


ज़ख्म भर जाएंगे, तुम मिलो तो सही
दिन सँवर जाएंगे, तुम मिलो तो सही
रास्ते में खड़े दो अधूरे सपन
एक घर जाएंगे, तुम मिलो तो सही..


विश्‍‍वास करने वाले से ज्‍यादा
बेवकूफ विश्‍वास तोड़ने वाला होता है
क्‍योंकि वह अपने छोटे से स्‍वार्थ के लिए
एक प्‍यारे इंसान को खो देता है!


टूट जातें है भरोसे भी तुम किसी को अपना तो बनाओ
जल जातें है दिल भी तुम ज़रा किसी से दिल तो लगाओ।


कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।


सुबह ही रात हो गयी जाने क्या बात
हो गयी, क्यों रूठ गए अचानक मुझसे
क्या फिर किसी से मुलाकात हो गयी..


तेरी चौखट से सिर उठाऊं तो बेवफा कहना,
तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,
मेरी वफाओं पे शक है तो खंजर उठा लेना,
मैं शौक से मर ना जाऊं तो बेवफा कहना।


बहुत तलाश किया पर कहीं गुम हो गए वो…
ढूंढने की कोशिश की पर नहीं मिले वो,
मेने तो वफ़ाई की लेकिन.. उसके प्यार में शायद खोट था…
इसलिए तो किसी और के बाहों में खो गए वो… ।।


चाहूँ तो भी मैं अपनी कहानी,
किसी से भी नहीं कह सकता,
उसमे नाम तेरा भी आएगा और,
मैं तुझे बेज़्ज़त नहीं कर सकता !


दिल को तेरी चाहत पे भरोसा भी बहुत है
और तुझ से बिछड़ जाने का डर भी नहीं जाता


दुनिया को नफरत का यकीन नहीं दिलाना पङता,
मगर लोग मोहब्बत का सबूत ज़रूर मॉगते हैं…


टुटा हुआ भरोसा कभी जुड़ता नहीं
बेवफाई करने वाला आशिक कभी मुड़ता नहीं।


Vishwas Dhoka Shayari –

उम्मीदों का फटा पैरहन,
रोज़-रोज़ सिलना पड़ता है,
तुम से मिलने की कोशिश में,
किस-किस से मिलना पड़ता है।


मुझसे गलती क्या हुई उसने कह दिया
तूने मेरा विश्वास तोड़ा है
लेकिन उनको ये मालूम नहीं की ना जाने उनकी
कितनी गलतियों ने तो मेरा दिल तक तोड़ा है।


प्यार के समुन्दर में चाहत की,
लहर उठने पर जो बह जाता है,
या तो वो तुम जैसा आबाद या,
मुझ जैसा बर्बाद हो जाता है !


भरोसा जितना कीमती होता है ,
धोका उतना ही महंगा हो जाता है …
ईमानदारी का दाम कोन जाने ,
यहां हर बेइमान राजा हो जाता है … ।।


तनहा-सी जिन्दगी के बेजान से नज़ारे
वो अब हुए नहीं अपने जो पहले थे हमारे।


हर रोज एक खाब टूट जाने दे ,
हर रोज युही खूद को रूठ जाने दे …
मेरी किस्मत में ही बेवफाई है ,
दिल एक शीशा है आज फिर फूट जाने दे … ।।


भरोसा जितना कीमती होता है
धोखा उतना ही महँगा हो जाता है।
ईमानदारी का दाम कौन जाने ❓
यहां हर बेईमान राजा होता है…


मैं मतलबी नहीं जो साथ रहने वालो को धोखा दे दू
बस मुझे समझना हर किसी के बस की बात नहीं ❓

तो दोस्तों यहाँ पर हमने इस विश्वास पर धोखा शायरी, Vishwas Dhoka Shayari कों आपके साथ शेयर किया है. उम्मीद है आपको जरुर पसंत आये होगे. इसी तरह पोस्ट पढने के लिए हमारे वेबसाइट कों visit जरुर करते रहिये. इस पोस्ट कों अपने दोस्तों के साथ जरुर करना.

Leave a Comment